Saturday, April 19, 2014

वहम ...

सच ! पहले वो अपनी कीमत तो तय करें 
फिर हम बताएँगे असली कीमत उनकी ?
… 
किताबों में उनका पूरा हिसाब-किताब है 'उदय' 
बस, हमें तुम्हें और सब को जोड़ना-घटाना है ?
…  
वे बिना पेंदी के होके भी लुढ़के नहीं हैं अब तक 
सच ! कमाल है !! गजब का बैलेंस है उनका !!!
… 
छल, झूठ, फरेब, और चालाकी 
बस, है तेरी पहचान इत्ती-सी ?
… 
गर्जनाएं वहम पैदा कर रही हैं 'उदय' 
और खामोशियाँ ? … सिर्फ चोटें ??
… 

Wednesday, April 16, 2014

अंतिम विकल्प ...

वोट ही … अंतिम विकल्प है 
चोट ही … 
अंतिम विकल्प है 
उठो, जागो … पहलवानो 
अंध में, अंधकार में … 
आज पूरा … हमारा तंत्र है ?

Thursday, April 10, 2014

गलतफहमी ...

तमाम तरह की तिकड़मों व तीन-पांच के बाद भी 
गर, वो हार गए, धूल चांट गए, ……....… तब ?
… 
अपना तो, सत्य-अहिंसा को समर्थन है 'उदय' 
बाकी, आगे, हर कोई मर्जी का मालिक है ??
… 
सच ! बहुत ही जल्द, मीडिया की गलतफहमी दूर होने वाली है 
क्योंकि, न तो कहीं हवा है, न लहर और न ही कहीं सुनामी है ?
… 
कोई तो उनके दिमाग का इलाज कराये 'उदय' 
ज्यादा देर, ख़्वाबों में रहना भी इक बीमारी है ?
… 
अरे भाई, कोई हमारा भी तो फतवा सुन ले 
आज से, कोई, … 
किसी भी भ्रष्टाचारी को वोट नहीं देगा ???
…